Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal important question

Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal

Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal

Bharti Bhawan class 10 physics Numerical Question Chapter 1

bharti bhawan class 10 science solution in hindi

all question solution cooming soon 

Bihaar Board Help4Exam :-  Matric Exam 2022 Ka vvi Question | Class 10th Matric Exam Objective Question | Matric Pariksha 2022 ka objective prashn | 2022 में मैट्रिक का परीक्षा | मैट्रिक का मॉडल पेपर 2022 | मैट्रिक का क्वेश्चन पेपर 2022 | class 10th important question 202 1| Bihhar Board Help4Exam

धातु एव अधातु अतिलघु उत्तरीय प्रश्न

  1. दो धातु एवं दो अधातु के नाम लिखें।

उत्तर- धातु—(i) लोहा, (ii) ताँबा।

अधातु-(i) हाइड्रोजन, (ii) ऑक्सीजन।

  1. समुद्री जल में पाये जाने वाले एक प्रमुख लवण का नाम लिखें।

उत्तर- सोडियम सल्फेट। ..

  1. किसी अधातु का नाम लिखें जो साधारण ताप पर द्रव अवस्था में रहती है।

उत्तर- पारा।

  1. एक अधातु का नाम लिखें जो वायु के संपर्क में आने पर जल उठती है?

 उत्तर- फासफोरस।

  1. कौन-सी अधातु विद्युत का सुचालक होती है ?

 उत्तर- ग्रेफाइट।

  1. क्या सभी खनिज अयस्क होते हैं ?

उत्तर- नहीं।

  1. उल्फ्राम किस अयस्क में विद्यमान रहता है ? ..

उत्तर- टिन के अयस्क, टिनस्टोन (SnO2) में उल्फ्रॉम (Wolfram) विद्यमान रहता है।

  1. क्या लोहे में जंग लगना ऑक्सीकरण है ?

उत्तर- यह ऑक्सीकरण-अवकरण अभिक्रिया है।

  1. मिश्रधातु क्या है ? . .

उत्तर- दो या दो से अधिक धातुओं के समांगी मिश्रण को मिश्रधातु कहते हैं।

  1. अमलगम से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर- जब मिश्रधातु में एक धातु पारा हो तो उसे अमलगम कहते हैं।

  1. किस इलेक्ट्रॉनिक विन्यास को प्राप्त कर तत्व स्थायी बन जाते हैं?

उत्तर- 2,8 (अष्टक) प्राप्त करके तत्व स्थायी बन जाते हैं।

  1. सोडियम परमाणु जल के साथ तीव्रता से अभिक्रिया करता है, किंतु सोडियम आयन नहीं, क्यों ?

उत्तर- सोडियम आयन स्थायी होता है, इस कारण जल से अभिक्रिया नहीं करता है।

  1. आयनिक यौगिकों के द्रवणांक और क्वथनांक उच्च होते हैं, क्यों?

उत्तर- इनके धन आयनों एवं ऋण आयनों के बीच मजबूत स्थिर वैद्युत आकर्षण बल कार्य करता है, इस कारण इसके द्रवणांक एवं क्वथनांक उच्च होते हैं।

  1. कार्बन टेट्राक्लोराइड से होकर विद्युत धारा क्यों नहीं प्रवाहित की जा रही उत्तर- कार्बन टेट्राक्लोराइड स्थायी विन्यास को प्राप्त कर लेते हैं। इसके बंधन काफी मजबूत होते हैं।

15.आयनिक बंधनों में आयनों के बीच किस प्रकार का बंधन कार्य करता है ?

उत्तर- विद्युत संयोजक बंधन।

  1. नाइट्रोजन अणु में कितने सहसंयोजक बंधन होते हैं? उत्तर तीन सह-संयोजक बंधन होते हैं।
  2. रासायनिक अभिक्रिया में कौन-से इलेक्ट्रॉन भाग लेते हैं। उत्तर- संयोजकता या संयोजी इलेक्ट्रॉन।

_

  1. रासायनिक बंधन मुख्यतः कितने प्रकार के होते हैं ?

उत्तर- रासायनिक बंधन मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं

(i) वैद्युत संयोजक, (ii) सह-संयोजक।

19.एक  परमाणु से दूसरे परमाणु में इलेक्ट्रॉनों का स्थानांतरण होने से किस प्रकार का बंधन बनता है?

उत्तर- वैद्युत संयोजक बंधन।

20.दो परमाणुओं के बीच इलेक्ट्रॉनों का साझा होने पर किस प्रकार का बंधन बनता है?

उत्तर- सह-संयोजक बंधन।

  1. द्विबंध वाले किसी अणु का उदाहरण दें।

उत्तर-  

  1. त्रिबंध वाले किसी अणु का उदाहरण दें। .

उत्तर-

  1. निम्नांकित यौगिकों में बंधन की प्रकृति बताएँ..

(i) अमोनिया . ..

(ii) कार्बन डाइऑक्साइड

(iii) सोडियम मोनोक्साइड

उत्तर- (i) अमोनिया – एकल सह-संयोजक बंधन

(ii) कार्बन डाइऑक्साइड – द्वि सह-संयोजक बंधन

(iii) सोडियम मोनोक्साइड – आयनिक बंधन।

  1. ऑक्सीजन परमाणु का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास नियॉन जैसा होने के लिए उसे कितने इलेक्ट्रॉन की आवश्यकता होगी? –

उत्तर-2 इलेक्ट्रॉन। . .

  1. एक तत्त्व A के संयोजी शेल में 4 इलेक्ट्रॉन हैं और दूसरे तत्त्व B के संयोजी शेल में 7 इलेक्ट्रॉन हैं। A और B के संयोग से बननेवाला यौगिक विद्युत का कुचालक है। इस यौगिक में बंधन की प्रकृति बताएँ और इसकी इलेक्ट्रॉनिक संरचना लिखें।

उत्तर-यौगिक- कार्बन टेट्राक्लोराइड, बंधन की प्रकृति-एकल सह-संयोजक बंधन

.

:26. एक यौगिक A और ऐलमिनियम का उपयोग रेल लाइनों के जोड़ने में किया जाता

है। यौगिक A की पहचान करें।

उत्तर- कॉपर

 

  1. धातु के निष्कर्षण में सल्फाइड और कार्बोनेट अयस्कों को धातु के ऑक्साइड में

परिवर्तित करना पड़ता है, क्यों ?

उत्तर- धातुओं को अनेक आक्स में काफी आसानी होती है।

-धातुओं को अनेक ऑक्साइड से निष्कर्षित करने में सल्फाइड और कार्बोनेट की तुलना

 

  1. धातु एवं अधातु में एक अंतर बताएँ।

उत्तर-धातुओं में एक विशेष प्रकार की चमक होती है। अधातुओं में कोई चमक

  1. धातुएँ विद्युत की सुचालक क्यों होती हैं ?

उत्तर-धातुओं के परमाणुओं में मुक्त इलेक्ट्रॉन रहते हैं। इस कारण विद्युत की धारा होने पर उससे इलेक्ट्रॉन का प्रवाह सतत होता है। इसलिए यह विद्युत का सुचालक होता।

  1. धातु की तन्यता और आघातवर्धनीयता से क्या समझते हैं ?

उत्तर-धातु की तन्यता का तात्पर्य है खींचकर तार बनाना। धातुएँ तन्य होती हैं। अर्थात गुण जिस कारण धातुओं से तार खींचे जा सकते हैं। आघातवर्धनीयता धातुओं का एक गणइनसे हथौड़े से पीटकर चादरें बनायी जाती हैं अर्थात् वह गुण जिस कारण धातुओं को पीटन चादरें बनायी जाती हैं। सोना एवं सिल्वर सर्वाधिक आघातवर्ध्य एवं तन्य हैं।

  1. द्विधर्मी ऑक्साइड क्या है ? .

उत्तर-धातुओं के वे ऑक्साइड जो अम्लीय एवं क्षारीय या भास्मिक दोनों गुण प्रदर्शित कर हैं द्विधर्मी ऑक्साइड कहलाते हैं। जैसे ऐलुमीनियम ऑक्साइड एवं जिंक ऑक्साइड।

  1. ग्रेफाइड अधातु होते हुए भी कौन-सा धातई गुण प्रदर्शित करता है? उत्तर-ग्रेफाइड में धातुई गुण मौजूद है क्योंकि उसमें चमक होती है और वह विद्युत धनात्मक

.

.

होती है।

सहसंयोजक यौगिक जब दो परमाणु आपस में इलेक्ट्रॉनों का साझा करके बंध बनाते । तो यह सहसंयोजक बंध कहलाते हैं तथा इनमें यौगिक सह-संयोजक यौगिक कहलाते हैं। इस यौगिक के परमाणु के इलेक्ट्रॉनों के बीच परस्पर साझेदारी होती है।

  1. ऑर्गन के दो परमाणु परस्पर संयुक्त होकर ऑर्गन अणु (Ar) क्यों नहीं बनाते हैं

उत्तर ऑर्गन अक्रिय गैस है। इसका अष्टक पूरा रहता है। इस कारण किसी से संयोजक या बंधन नहीं बनता है। इस कारण यह परमाणु के रूप में रहता है।

  1. परमाणु एवं आयन में अन्तर लिखें।

उत्तर-परमाणु किसी तत्त्व का सबसे सूक्ष्म कण परमाणु है। ये इलेक्ट्रॉन, प्रोटॉन एवं न्यूट्रॉन से मिलकर बने होते हैं।

आयन-किसी तत्त्व के. परमाणु का इलेक्ट्रॉन ग्रहण करने या त्याग करने से परमाणु के परिवर्तित रूप को आयन के कहते हैं। आयन दो प्रकार हैं धनायन तथा ऋणायन। उदाहरणार्थ Na अव एक इलेक्ट्रॉन खोता है तो यह Na* आयन बनाता है। जब इलेक्ट्रॉन ग्रहणं करता है तो Na आयन बनाता है।

8.सहसंयोजक बंधन कितने प्रकार के होते हैं और ये कैसे बनते हैं?

उत्तर सहसंयोजक बंधन तीन प्रकार के होते हैं(i) एकल सहसंयोजक बंधन (Single Covalent bond)

(ii) द्विक सहसंयोजक बंधन (Double Covalent bond) (iii) त्रिक सहसंयोजक बंधन (Triple Covalent bond)

(i) एकल सहसंयोजक बंधन जब दो परमाणुओं के बीच इलेक्ट्रॉनों के सिर्फ एक युग्म का साझा होता है तब उनके बीच एकल सहसंयोजक बंधन बन

 

all question solution cooming soon 

Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal,Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal Bharti Bhawan class 10 chemistry Metal and non metal 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *